गाड़ी के टायरों पर क्यों बने होते हैं रबर के ‘कांटे’ और इन्हें क्या कहते हैं

12
tyre

हम लोगों ने सड़कों पर कई तरह के मोटरसाइकिल, कार, बस और ट्रक को देखते हैं परंतु कभी हम लोगों ने इन सभी गाड़ियों के टायर पर गौर किया है। जब हम लोग नई गाड़ियां खरीदने जाते हैं या फिर अपनी गाड़ी के लिए नई टायर लेने जाते हैं तो देखते हैं कि उन टायरों में सभी जगह रबड़ के कांटे लगे होते हैं। परंतु कभी हमने सोंचा है कि इसमें रबड़ के कांटे क्यों लगे होते हैं और इसका क्या काम होता है और इसे क्या कहते हैं।

टायर पर लगे रबड़ के कांटे कोई डिजाइन नहीं होती

टायर पर लगे रबड़ के कांटे कोई डिजाइन नहीं होती है। इन कांटो को लगाने के पीछे कंपनी का काफी खास मकसद होती है। जो हम आपको अपने इस लेख के जरिए इसकी जानकारी देंगे। हमलोग अक्सर इन सभी छोटी-छोटी बातों को हमेशा नजरअंदाज कर देते हैं। जिससे हम लोगों को ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जिसे हम नहीं जानते हैं। इसलिए आज हम आपको टायरों में लगे रबड़ के कांटों के बारे में बताएंगे और इन रबड़ के कांटो का क्या काम होता है जो टायरों में लगाया जाता है।

टायर में लगे रबड़ के कांटे को क्या कहते हैं

गाड़ियों के टायर में लगे रबड़ के कांटे लगाने के पीछे कंपनी की काफी खास भूमिका होती है। टायरों में लगे रबड़ के कांटो को वेंट स्पिउज (Vent Spews) कहा जाता है। इन टायरों मे रबड़ के कांटे लगाने का कंपनी का मकसद यह है कि जब वाहन सड़क पर चलती है तो टायर पर काफी दवाब पड़ता है। टायरों पर इसी दबाब को कम करने के लिए इनमें कांटे लगाए जाते हैं। टायरों में रबर के कांटे लगा देने से चक्के पर दवाब काफी कम हो जाता है।

जब कंपनी टायर बनाती है तब इन टायर के अंदर बुलबुले होने का डर बना होता है। अगर टायर की अंदर बुलबुले बनने लगते हैं तो वह काफी कमजोर हो जाता है जो गाड़ियों के भार को ज्यादा सहन नहीं कर सकती है। और सड़कों पर जब ऐसी कमजोर टायर लगाकर के गाड़ियां चलाई जाए तो दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है। इसलिए कंपनी जब टायर बनाती है तो इस बात का काफी ध्यान रखती है कि टायर बनाते समय इसके अंदर बुलबुले ना निकले और टायर अच्छी व बेहतरीन क्वालिटी का बने।

रबड़ के कांटे लगाने की वजह

टायरों पर कांटे लगाने की वजह काफी खास होती है। टायरों पर लगे इन कांटों से पता चलता है कि यह टायर काफी अच्छी क्वालिटी की बनी है जो गाड़ियों का भार काफी हद तक सहन कर सकती है। और जब इन रबड़ के लगे काटे वाले टायर को गाड़ी में लगाकर के सड़कों पर चलाया जाता है तो इससे खतरा काफी कम होता है। इसके साथ-साथ इसकी लाइफ भी काफी ज्यादा होती है। टायर में लगे रबड़ के कांटे की यही वजह होती है। अगर आप अपनी न्यू गाड़ी खरीदने जाएं या फिर अपनी गाड़ियों के लिए न्यू टायर खरीदने जाए तो उसने रगड़ के कांटे जरुर देखें। अगर उन टायर मेजर करके कांटे ना लगे हो तो उस टायर को बिल्कुल नहीं खरीदें।

अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें।

Click here to read this article in English