Bhutan Budget Trip : कम बजट में भूटान की यात्रा कैसे करें, जानें बजट फ्रेंडली ट्रिप के लिए पर्फेक्ट गाइडलाइन

135

Bhutan Budget Trip in Hindi: अगर आप घूमने फिरने के शौकीन हैं, तो यकीनन आप विदेश यात्रा भी जरूर करना चाहते होंगे। लेकिन भारत से बाहर किसी दूसरे देश में घूमने के लिए जाना काफी महंगा और जेब के लिए खर्चीला साबित होता है, जिसकी वजह से कई लोग विदेश ट्रिप के लिए लंबे समय तक बचत भी करते हैं।

लेकिन अगर आप भारत के पड़ोसी देशों में यात्रा करने की प्लानिंग करते हैं, तो इससे आपकी जेब पर भी जोर नहीं पड़ेगा और बहुत ही कम पैसों में आपकी विदेश यात्रा भी पूरी हो जाएगी। ऐसे में आप भूटान घूमने (Bhutan Budget Trip from India) के लिए जा सकते हैं, जहाँ आप प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर एक परफेक्ट ट्रिप प्लान कर सकते हैं।

भूटान में बजट फ्रेंडली ट्रिप

भूटान घूमने (Bhutan Budget Trip) के लिए आपको कम से कम अपने काम से 7 दिन की छुट्टी लेनी होगी, क्योंकि इस एक हफ्ते में ही आप प्रकृति के खूबसूरत नजारों को देख सकते हैं। भूटान एक छोटा-सा देश है, जहाँ हर जगह बस या टैक्सी की सुविधा नहीं होती है। इसलिए आपको यहाँ का ट्रिप प्लान करने से पहले बस स्टेशन और टैक्सी स्टैंड से जरूरी जानकारी जुटानी होगी और सुविधा के लिए ट्रिप से पहले से ही बुकिंग करवानी पड़ती है।

भारत से भूटान जाने (Trip to Bhutan From India) के लिए आप सड़क या हवाई मार्ग का विकल्प चुन सकते हैं, जो आपके घूमने के बजट के अंतर्गत आता है। आप भूटान के लिए दिल्ली, कोलकाता, बोधगया, गुवाहाटी और बागडोगरा से पारो अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Bhutan International Airport – Paro) की फ्लाइट ले सकते हैं, जो भूटान का एकमात्र हवाई हड्डा है।

यह हवाई अड्डा 5, 500 मीटर की ऊंचाई पर पहाड़ियों की चोटी में स्थित है, जिसकी वजह से यहाँ प्लेन की लैंडिंग काफी जोखिमी भरी होती है। वहीं अगर आप सड़क मार्ग के जरिए भूटान जाना चाहते हैं, तो आपको पश्चिम बंगाल की सीमा पर मौजूद जयगांव तक पहुँचना होगा। इसके लिए आप बस, ट्रेन या टैक्सी जैसे पब्लिक ट्रांसपोर्ट से सफर कर सकते हैं, जहाँ से आपको भूटान के लिए बस या टैक्सी मिल जाएगी।

आप चाहे तो गुवाहाटी और असम से भी भूटान जा सकते हैं, लेकिन उत्तर भारत से भूटान की तरफ जाने वाले लोगों के लिए पश्चिम बंगाल से भूटान जाना ज्यादा सस्ता और छोटा सफर हो सकता है। इसलिए ज्यादातर लोग पश्चिम बंगाल से होते हुए ही भूटान पहुँचते हैं, जहाँ से बस या टैक्सी आसानी से मिल जाती है।

थिंपू में आपका स्वागत है

भारत से सड़क मार्ग या हवाई मार्ग के जरिए भूटान पहुँचने वाले पर्यटकों का पहला डेस्टिनेशन थिंपू (Thimphu) शहर होगा, जो इस देश की राजधानी भी है। थिंपू में दो बस स्टैंड मौजूद हैं, जिसमें से एक सिटी बस स्टैंड है और दूसरा थिंप बस स्टैंड (RTSA) के नाम से जाना जाता है।

अगर आप थिंपू शहर के अंदर घूमना चाहते हैं, तो आपको यहाँ मौजूद सिटी बस स्टैंड से आसपास घूमने के लिए प्राइवेट और सरकारी बसें मिल जाएंगी। इन बसों में सफर करना सस्ता होता है और आप स्थानीय संस्कृति को अच्छी तरह से समझ पाएंगे, जबकि भूटान के अन्य शहरों तक जाने के लिए आपको थिंपू बस स्टैंड से बस लेनी होगी।

भूटान घूमने के लिए सिटी बस काफी सस्ती साबित होती है, क्योंकि इसमें टैक्सी के मुकाबले बहुत कम किराया देना पड़ता है। हालांकि भूटान में चलने वाली बसों का टिकट बस स्टैंड या चुनिंदा दुकानों पर ही मिलता है, इसलिए आपको पूछताछ करके ही टिकट लेने पर ही बस में बैठने दिया जाएगा। यहाँ कंडक्टर का काम टिकट बंटना नहीं होता है।

थिंपू से पारो शहर तक पहुँचने के लिए पूरे दिन में सिर्फ दो बसें ही चलती हैं, जिसमें एक बस सुबह 9 बजे और दूसरी बस दोपहर 2 बजे यात्रियों को थिंपू से पारो तक ले जाती है। ऐसे में अगर आप अपनी टाइमिंग के हिसाब से घूमना चाहते हैं, तो आपको प्राइवेट टैक्सी में सवार होकर थिंपू से पारों की यात्रा करनी होगी।

भूटान में मशहूर पर्यटन स्थल

भूटान पहुँचने के बाद आप विभिन्न शहरों की यात्रा कर सकते हैं, जो अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के लिए मशहूर हैं। इन शहरों में थिंपू और पारो के अलावा फवेनशॉलिंग (Phuentsholing) का नाम भी शामिल है, जहाँ पहुँचने के लिए आपको 5 घंटे का सफर तय करना होगा। इस दौरान आपको रास्ते में खूबसूरत पहाड़ और हरे भरे जंगल देखने को मिलेंगे, हालांकि इस शहर तक पहुँचने के लिए आपको एक दिन पहले बस की टिकट बुक करनी होगी।

इसके अलावा भूटान में टाइगर्स नेस्ट (Tiger’s Nest) काफी मशहूर पर्यटन स्थल है, जहाँ तक पहुँचने के लिए आपको टैक्सी बुक करनी होगी। टैक्सी में प्रति व्यक्ति का किराया 300 से 500 रुपए के बीच होता है, जिसे आप कैब ड्राइवर से मोल भाव करके कम करवा सकते हैं। टाइगर्स नेस्ट दो हिस्सों में बंटा है, जहाँ पहले पड़ाव तक टैक्सी से जाने पर कम किराया लगता है जबकि दूसरे पड़ाव तक पहुँचाने के बदले टैक्सी ड्राइवर ज्यादा पैसे मांगते हैं। इसलिए आप पैसे बचाने के लिए टाइगर्स नेस्ट जंक्शन पर उतर सकते हैं, वहाँ से 50 रुपए की शेयरिंग कैब लेकर आप दूसरे पड़ाव तक पहुँच सकते हैं।

वहीं अगर आप ट्रेकिंग करने के शौकीन हैं, तो टाइगर्स नेस्ट जंक्शन से टाइगर्स नेस्ट तक पहुँचने के लिए पैदल यात्रा की जा सकती है। यहाँ से ट्रैक के शुरुआती प्वाइंट तक पहुँचने में लगभग डेढ़ घंटे का समय लगता है, हालांकि इस दौरान आप खूबसूरत सड़क और जंगलों के बीच तस्वीरें क्लिक करवाते हुए आगे बढ़ सकते हैं।

खाना-पान और संस्कृति

अगर आप नॉनवेज (Non-Veg) खाने के शौकीन हैं, तो भूटान में आपको भरपूर मात्रा में नॉनवेज डिशज़ खाने को मिल जाएंगी। यहाँ शाकाहारी लोगों को खाने की दिक्कत हो सकती है, क्योंकि भूटान में हर जगह अच्छा वेजीटेरियन फूड मिलना मुश्किल है।

ऐसे में आपको शाकाहारी भोजन के लिए थोड़ा घूमना पड़ सकता है, जबकि नॉनवेज खाना आपको गली, नुक्कड समेत बड़े बाजारों में आसानी से मिल जाएगा। इसके अलावा भूटान में शराब भी काफी ज्यादा सस्ती है, जिसे किसी भी स्टोर या शॉपिंग मॉल से आसानी से खरीदा जा सकता है।

भूटान में आप रेड राइस बीयर ट्राई कर सकते हैं, जिसका टेस्ट काफी अच्छा होता है और यह शरीर को एनर्जी देने का काम करती है। वहीं मीठे में आपको यहाँ विभिन्न फ्लेवर्स के केक मिल जाएंगे, लेकिन अगर आपको सिगरेट पीने की आदत है तो भूटान घूमने के दौरान आपको मुश्किल हो सकती है। क्योंकि भूटान में तंबाकू बैन है और जो लोग गैर कानूनी रूप से सिगरेट बेचते हैं, उसकी कीमत बहुत ज्यादा होती है।

भूटान के व्यजंनों में आपको लाल मिर्च का रंग अलग से दिखाई देगा, क्योंकि यहाँ हर खाने में लाल मिर्च का इस्तेमाल किया जाता है। इसका एक कारण यह भी है कि भूटान के पास मसालों के नाम पर सिर्फ लाल मिर्च है, इसलिए यहाँ का भोजन काफी तीखा और गर्म तासीर वाला होता है।

पर्यटकों के ठहरने के लिए है विभिन्न जगहें

भूटान में होटल में रूम लेना थोड़ा-सा खर्चीला साबित हो सकता है, क्योंकि यहाँ होटल के रेट काफी ज्यादा हैं। लेकिन अगर आप थोड़ी-सी रिसर्च करके जाते हैं, तो आपको बजट फ्रेंडली रूम (Budget Friendly Hotel) मिल सकते हैं वरना आपको महंगे रूम्स में ही ठहरना होगा।

अगर आप भूटान ट्रिप (Budget friendly trip to Bhutan) में पैसे बचाना चाहते हैं, तो होटल के बजाय धर्मशाला में ठहर सकते हैं। यहाँ के जयगांव (Jaigaon) में हनुमान मंदिर धर्मशाला में पर्यटकों के ठहरने का बंदोबस्त किया जाता है, जहाँ सिर्फ 10 रुपए देकर आप एक रात के लिए कमरा ले सकते हैं। यही वजह है कि इस धर्मशाला में खाली कमरे मिल पाना मुश्किल होता है, जिसकी वजह से लोग पहले से ही बुकिंग करवा लेते हैं।

इसके अलावा हनुमान मंदिर धर्मशाला में शादी के लिए भी बुकिंग होती है, इसलिए यहाँ खाली कमरे मिलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। हालांकि आप चाहे तो जायगांव में स्थित साहू सेवा ट्रस्ट से भी रूम ले सकते हैं, जहाँ एक रात के लिए 300 रुपए किराया लिया जाता है। यहाँ एक रूम में 2 लोग ठहर सकते है, जबकि आपको साफ सुथरा रूम और टॉयलेट सुविधा मिलेगी।

इसी प्रकार भूटान में विभिन्न शहरों में होटल रूम्स की सुविधा उपलब्ध है, जहाँ एक रात ठहरने के लिए आपको 500 से 700 और 1, 000 रुपए तक किराया देना पड़ सकता है। इन रूम्स में आपको डबल बेड और टीवी समेत अन्य जरूरी सुविधाएँ मिल जाती हैं, जहाँ आप इंडियन फूड भी आर्डर कर सकते हैं।

किन बातों का रखना होता है ध्यान

भूटान घूमने फिरने के लिहाज से बहुत ही खूबसूरत और सस्ता (Bhutan budget trip from India) देश है, लेकिन यहाँ जाने से पहले कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होगा। आपको भूटान घूमने के लिए सबसे पहले परमिट लेना होगा, जो थिंपू शहर से मिल जाएगा। इसके लिए आपके पास पासपोर्ट साइट फोटो, वोटर आईडी कार्ड, होटल कंफर्मेशन की हार्ड कॉपी और ट्रैवल आइटनरी होना बेहद जरूरी है।

भूटान घूमने के लिए भारतीय पर्यटकों को पासपोर्ट और वीजा की जरूरत नहीं होती है, लेकिन अगर आप भारत बांग्लादेश और मालदीव को छोड़कर किसी अन्य देश के नागरिक हैं तो आपको अपने साथ पासपोर्ट और वीजा भी रखना पड़ेगा।

अगर आप स्टूडेंट हैं तो आपने स्कूल या कॉलेज का आईडी कार्ड साथ लेकर जाएँ, क्योंकि ऐसा करने से आपको कई पर्यटक स्थलों की टिकट पर 50 प्रतिशत या उससे ज्यादा की भारी छूट मिल सकती है। वहीं अगर आप भूटान का सिम कार्ड खरीदना चाहते हैं, तो इमिग्रेशन ऑफिस में परमिट दिखाकर भूटान टेलीकॉम का सिम कार्ड खरीदा जा सकता है। इसका नेटवर्क कवरेज काफी अच्छा होता है और आप ऊंचाई पर भी मोबाइल फोन पर बातचीत कर सकते हैं।

इसके अलावा भूटान घूमने के दौरान पर्यटकों को अपना परमिट और आईडी कार्ड हमेशा साथ रखना होता है, क्योंकि यहाँ जगह-जगह पर चेक पोस्ट मौजूद होते हैं। ऐसे में अगर आप बिना किसी रूकावट के भूटान घूमना चाहते हैं, तो अपनी जेब में परमिट और आईडी कार्ड रखकर चलें।

इस तरह आप भूटान में लगभग 7 दिन तक घूम सकते हैं, जिसके लिए आपको महज 4 से 5 हजार रुपए (Bhutan Budget Trip) खर्च करने होंगे। भूटान में बजट फ्रेंडली होटल से लेकर बस सर्विस और फूड मौजूद है, इसलिए आप इस देश में एक सस्ता ट्रिप प्लान कर सकते हैं।