गोवर्धन परिक्रमा और ताजमहल के लिए अब हेलीकॉप्टर टैक्सी मिलेगी, यूपी में पर्यटन विभाग की पहल

119

उत्तर प्रदेश में पर्यटन विभाग के द्वारा एक नई पहल शुरू की गई है। अब पर्यटक उत्तर प्रदेश में गोवर्धन परिक्रमा और ताजमहल का दीदार हवाई टैक्सी के माध्यम से कर पाएंगे। इस संबंध में पर्यटन विभाग के द्वारा प्रस्ताव भेज दिया गया है। आपको बता दे कि पहले चरण में आगरा और मथुरा शहर में ही हेलिकाप्टर उतारे जाएंगे।

यूपी में पर्यटन विभाग की नई पहल

राज्य में हेलीकॉप्टर टैक्सी एप चलाई जाएंगी, जिसके लिए यूपीडा ने मथुरा और आगरा में हेलीपोर्ट तैयार किए हैं। आपको बता दें कि इसके जरिए विभिन्न शहरों से कनेक्टिविटी तो बढ़ेगी साथ ही साथ लोग एरियल व्यू का मजा भी उठा पाएंगे।

यूपीडा के सीईओ और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी के मुताबिक, पर्यटक हेलीकॉप्टर से आगरा दर्शन, ताज महल, फतेहपुर सिकरी सबकुछ ऊपर से देख सकेंगे। जो पर्यटक चलने फिरने में असमर्थ हैं उनके लिए हेलीकॉप्टर परिक्रमा शुरू कराई जाएगी।

इन जगह पर बनेंगे हेलीपोर्ट

वाराणसी प्रयागराज, मथुरा और आगरा में कानूनी अड़चनों और प्रयागराज में रेत की की वजह से रुकावट आई थी। अब बता दे कि हेलीकॉप्टर टैक्सी शुरू करने में लगभग ₹50000000 की खर्च आ रही है। देश का सबसे बड़ा हेलीपोर्ट नोएडा में बनाया जा रहा है।

नोएडा हेलीपोर्ट का उपयोग बहुउद्देशीय होगा. यहां से कमर्शियल उड़ान होंगी. जिनके लिए बेल-412 हेलीकॉप्टर उपयोग होते हैं. इन हेलीकॉप्टर्स में 12 यात्री सवार हो सकते हैं.  इन हेलीकॉप्टर की क्षमता 26 यात्रियों को लाने या ले जाने की होती है. इन बड़े हेलीकॉप्टर की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए नोएडा हेलीपोर्ट का डिजाइन तैयार किया जाएगा.

पर्यटन के विकास के लिए सरकार ने उठाया कदम

उन्होंने बताया कि प्रदेश में पर्यटन क्षेत्र के विकास के लिए इस सेवा के विकास को प्राथमिकता दी जा रही है। सरकार का उद्देश्य है कि पर्यटकों को उत्तर प्रदेश में मौजूद तमाम पर्यटन स्थलों से जोड़ा जा सके और यहां आने वाले सभी लोगों को सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं से अधिक से अधिक लाभ मिल सके।