गरीबी में बीता बचपन, दो वक्त की रोटी के लिए करना पड़ा संघर्ष, आज है 2 करोड़ रुपये के मालिक

44
khan sir

हमेशा पढ़ाई को बोरिंग ही माना जाता है. मगर खान सर के नाम से मशहूर इस शख्स ने पढ़ाई को इतना दिलचस्प बना दिया है कि हर तरफ उनके नाम की चर्चा है. आइए जानते हैं खान सर के बारे में.

खान जीएस रिसर्च सेंटर के है संस्थापक

उनका असली नाम फैज़ल खान है, जिन्हें खान सर के नाम से जाना जाता है. खान सर पटना में सबसे बड़े कोचिंग संस्थान खान जीएस रिसर्च सेंटर के संस्थापक हैं. ये संस्थान सरकारी नौकरियों की प्रवेश परीक्षा की तैयारी करती होती हैं. पटना का यह संस्थान यूपीएससी, यूपीपीसीएस, बीपीएससी, बीएसएससी, यूपीएसएसएससी, एसएससी, बैंक, रेलवे, वायु सेना की तैयारी के लिए सबसे अच्छा कोचिंग सेंटर माना जाता है. खान सर खुद सामान्य अध्ययन की तैयारी करते हैं. वह अपने अनोखे अंदाज से बच्चों को पढ़ाते हैं, जिससे वह आज पटना, बिहार के साथ-साथ पूरे देश में मशहूर हो गए हैं.

खान सर ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई पूरी की है. खान सर इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र संघ का भी हिस्सा थे. इस वजह से उन्हें कई बार जेल भी जाना पड़ा. वैसे खान सर ऑफलाइन ही पढ़ाते थे लेकिन लॉकडाउन के कारण छात्रों की संख्या कम हो गई. जिसकी वजह से उन्होंने अपना खुद का यूट्यूब चैनल खोल दिया.

इस तरह करी थी यूट्यूब चैनल की शुरुआत

khan sir starting youtube channel

खान सर बहुत समय से पटना में अपना कोचिंग संस्थान चला रहे हैं. अप्रैल 2019 में, उन्होंने “खान जीएस रिसर्च सेंटर” नाम से यूट्यूब में अपना खुद का चैनल खोला. अब यह चैनल पूरे भारत में खान सर की लोकप्रियता का कारण बन चूका है. आज इस यूट्यूब चैनल के 17 मिलियन से भी ज्यादा सब्सक्राइबर हैं. खान सर काफी समय से यूट्यूब पर वीडियो डालते आ रहे हैं. लेकिन खान सर की लोकप्रियता का कारण गलवान घाटी को लेकर भारत और चीन के बीच बढ़ता तनाव है.

शेफाली वैद्य और अनुपम खेर जैसे बड़े कलाकारों ने भी सराहा

khan sir office

खान साहब की विशेषता यह है कि वह कठिन से कठिन बात को भी बहुत सरल और रोचक ढंग से समझाते हैं. आप उनके द्वारा पढ़ाए गए हर पाठ को तुरंत याद कर सकते हैं. आप जिस भी बैकग्राउंड से हैं आप उनकी पढ़ाई को बहुत जल्दी समझ सकते हैं. उन्हें पढ़ाने का शौक है जो उनके वीडियो में देखा जा सकता है. उनका यूट्यूब चैनल भी फ्री है. उनके कोचिंग संस्थान से कोई भी पैसे के कारण निराश नहीं गया है. उन्होंने पटना में सबसे बड़ा पुस्तकालय भी खोला है. उनके वीडियोस को शेफाली वैद्य और अनुपम खेर जैसे बड़े कलाकारों ने भी सराहा है.

अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें।